बीकानेरबीकानेर संभागराजस्थान

राजस्थान में हड़ताल छठे दिन भी जारी, मरीजों की जान पर चिकित्सकों की हड़ताल भारी !

राजस्थान में चिकित्सकों की हड़ताल छठे दिन भी जारी,मुर्दों पर चिकित्सकों की हड़ताल भारी!

राजस्थान में चिकित्सकों की हड़ताल छठे दिन भी जारी है। राज्य सरकार व चिकित्सकों के बीच हुई इस तनातनी खत्म होने का नाम नहीं ले रही है और खामियाजा बेचारे मरीजों को भुगतना पड़ रहा है । अस्पतालों से  मरीजों को जबरन छुट्टी दी जा रही है इससे मरीजों व् उनके परिजनों  को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है । प्रदेश तमाम सरकारी अस्पतालों में मरीजों की लंबी-लंबी कतारें लगी हुई हैं । बीकानेर संभाग के सबसे बड़े हॉस्पिटल पीबीम में लोगों की भारी परेशानी का सामना करना पड़  रहा है । अस्पताल में मरीजों को भर्ती नहीं किया जा रहा है।  अस्पताल में भर्ती मरीजों की जान पर बन आई है वहीं मौत के बाद मुर्दों पर भी चिकित्सकों की हड़ताल भारी पड़ रही है।  जिले में डॉक्टरों की हड़ताल की वजह से विभिन्न घटनाओं में मौत होने पर मुर्दों का पोस्टमार्टम नहीं हो पा रहा है। पीबीएम अस्पताल समेत समूचे जिले में चिकित्सा व्यवस्था गड़बड़ा गई है

 

हवाओं के बदलते रुख से खतरनाक ‘स्मॉग’ पहुंचा बीकानेर ! 

 

सरकार ने दिखाई सख्ती

अस्पताल की आपातकालीन इकाई में तो मेडिकल स्टूडेंट्स को बैठाकर वैकल्पिक व्यवस्थाओं की इति श्री कर ली गई है। जबकि रेलवे व आर्मी के डॉक्टरों को अभी तक सिर्फ प्रशासन के साथ बैठक का ही निमन्त्रण भेजा गया है। जिले स्थिति काफी चिंताजनक हो चुकी है।हालांकि राज्य सरकार ने शुक्रवार से ही चिकित्सकों पर सख्ती दिखाते हुए रेसमा के तहत इनकी गिरफ्तारियां भी शुरू कर दी हैं। प्रदेश में अनेक चिकित्सकोंं की गिरफ्तारी भी हुई है लेकिन बीकानेर में अभी तक धरपकड़ ही जारी है। किसी चिकित्सक को अभी तक गिरफ्तार नहीं किया जा सका है। 

विधायक भाटी ने हालात का जायजा लिया

मरीजों की कुशल क्षेम पूछने पहुंचे विधायक भंवर सिंह भाटी ने कहा कि बीकानेर जिला प्रशासन पंगु हो चुका है। क्योंकि यहां एक आरएएस अधिकारी को ना केवल कलेक्टर बल्कि संभागीय आयुक्त का चार्ज भी सौंप दिया गया है। और वे सही समय पर सही निर्णय नहीं भी ले पा रहे हैं. इस दौरान विधायक भाटी ने अस्पताल के आहते में इलाज के लिए बैठे मरीजों को भी संभाला और उन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया।

Tags
Show More

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker