बीकानेर

बीकानेर में पुलिस की सह पर चल रहा है बड़े पैमाने पर सट्टा कारोबार 

आईपीएल सीजन में अरबो की सौदेबाजी कर रहे बीकानेर के क्रिकेट बुकियों को पकडऩे में नाकाम साबित हो रही

बीकानेर। आईपीएल सीजन में अरबो की सौदेबाजी कर रहे बीकानेर के क्रिकेट बुकियों को पकडऩे में नाकाम साबित हो रही पुलिस यहां सड़क-चौराहों पर पर्ची सट्टा करने वाले छुट्टभईयों की धरपकड़ में जुटी है। जानकारी में रहे कि गत सात अप्रेल से शुरू हुए आईपीएल सीजन में अब तक हुए मैचों की सौदेबाजी में बीकानेर सट्टा जगत के नामी बुकी अरबों रूपये के वारे-न्यारे कर चुके है,यहां गंगाशहर-भीनासर समेत शहरभर में महफूज थाना इलाकों में अपने ठिकानों से नामी बुकी एसी एकांउट खोलकर बड़े पैमाने पर काला कारोबार कर रहे है।


नाकाम पुलिस बेखौफ सट्टेबाज़ 

पुलिस के लिये चुनौति बने क्रिकेट बुकी अपनी खास जगहों पर बैठे-बैठे ही आईपीएल के मैचों में अरबों रुपए दांव पर लगवा रहे हैं। बीकानेर में चांडक,सुसवाणी,सुराणा,सेठिया,पूगलिया और बबलू माली समेत दर्जनभर बुकी है जिनका नेटवर्क नागपुर,मुंबई और दूबई तक बैठे अंतरर्राष्ट्रीय क्रिकेट सट्टा जगत से जुड़े हुए है। पुलिस इस काले कारोबार पर अंकुश लगाने में नाकाम हो रही है,और अपनी नाकामी छुपाने के लिये शहर में सड़क-चौराहो पर पर्ची सट्टा करने वाले सट्टोरियों की धरपकड़ में ताकत झोंक रखी है।


रिश्वतखोरी में ईमानदारी में अव्वल है राजस्थान पुलिस 

क्रिकेट बुकियों के खिलाफ कार्यवाही में नाकामी को लेकर बीकानेर पुलिस पर उठ रहे सवालों के बीच एक बात पुख्ता तौर पर उभर सामने आई है कि रिश्वतखोरी के आंकड़ो में बीकानेर पुलिस ईमानदार है। गृह विभाग के आंकड़ों पर नजर डाली जाए तो स्पष्ट है कि तैंतीस जिलों में 202 पुलिसकर्मी रिश्वत लेते पकड़े जा चुके हैं।


इनमें से सबसे अधिक 39 पुलिसकर्मी जयपुर में एसीबी के हत्थे चढ़े हैं। फिर सीकर में 13, उदयपुर व अलवर में 12-12 पुलिसकर्मी रिश्वत के आरोपों में फंसे हैं। जोधपुर जिले में आठ पुलिसकर्मी भ्रष्टाचार में फंसे हैं जबकि बीकानेर भ्रष्टाचार के सबसे कम मामले सामने आए हैं और चार साल के दौरान मात्र एक जवान ही रिश्वतखोरी के कारण पकड़ में आया है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए फेसबुक पेज को लाइक करें

Tags
Show More

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker