बीकानेर

बीकानेर में सरकारी क्वार्टरों पर अवैध कब्जों के खिलाफ चली मुहिम, पढ़ें पूरी खबर !

बीकानेर। इगांनप कॉलोनी में सरकारी क्वार्टरों पर अवैध कब्जों के खिलाफ मुहिम के तहत मंगलवार को इगांनप मुख्य अभियंता के निर्देश पर पुलिस जाब्ते के साथ चलाये अभियान के दौरान करीब 107 क्वार्वरों को खाली करवाकर क्वार्टरों के आस-पास अतिक्रमणों को हटाया। इगानंप १६ डिविजन के अधिशाषी अभियंता दिनेश सोंलकी की अगुवाई में करीब दो घंटे तक चले अभियान में विभाग के आधा दर्जन अभियंता शामिल थे।

कार्यवाही के दौरान कॉलोनी में हड़कंप सा मच गया और मौके पर लोगों की भारी भीड़ जुट गई। जिसे देखते हुए अतिरिक्त पुलिस जाब्ता बुलाया गया। जानकारी के अनुसार आईजीएनपी कॉलोनी के क्वार्टरों में पिछले काफी समय से अवैध कब्जों की शिकायत मिल रही थी। इसके बाद पिछले दिनों विभागीय अभियंताओं की टीम ने सर्वे किया तो पता चला कि कॉलोनी में १०७ ऐसे राजकीय क्वार्टर है जिनमें ज्यादात्तर लोग अवैध रूप से रहे है और कई जनों ने क्वार्टरों के पास खाली पड़ी जमीन पर भी अतिक्रमण कर कमरें और बाड़े बना लिये है।

अवैध अतिक्रमणों को जेसीबी से ध्वस्त

बताया जाता है कि इनमें कई कर्मचारियों ने अपने नाम आवंटित क्वार्टर किराये पर दे रखे थे,वहीं अनेक क्वार्टरों में लोग अवैध रूप से रह रहे थे। इंगानप प्रशासन ने सर्वे के बाद मंगलवार को कार्रवाई को अमलीजामा पहनाते हुए पुलिस और दस्ते के साथ कॉलोनी पहुंच सख्ताई के साथ क्वार्टरों को खाली करवाने की कार्यवाही शुरू कर दी तथा क्वार्टरों के आस पास अवैध अतिक्रमणों को जेसीबी से ध्वस्त कर दिया। मौके पर कार्यवाही दल को लोगों का विरोध भी झेलना पड़ा लेकिन पुलिस के साथ होने की वजह से विरोध किसी हंगामे में नहीं बदल सका। छुटपुट विरोध के बीच अतिक्रमण की कार्रवाई स पन्न हो गई।

क्वार्टर किसी के नाम, रह कोई और रहा

इंगानप कॉलोनी में ऐसे भी क्वार्टर बहुत से सामने आए जो विभाग के दस्तावेज में किसी ओर के नाम अलॉट हो रखे थे, जबकि उनमें रह कोई और रहा था। बताया गया है कि आईजीएनपी विभाग में कार्यरत कर्मचारियों ने क्वार्टर अपने नाम से अलॉट करवा रखे हैं जिनका विभाग में नियमानुसार निर्धारित किराया उनके वेतन में से कट रहा है। ऐसे कर्मचारियों ने किराया कटौति से ज्यादा राशि में अपने नाम से अलॉट हुआ क्वार्टर अन्य को किराए पर दे रखा है।

Tags
Show More

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker