बीकानेर

बीकानेर: हेलमेट चैकिंग के नाम पर युवक को थाने में ले जाकर बेरहमी से पीटा

बीकानेर। शहर में पुलिस चोरों व अपराधियों को नहीं पकडऩे की खीज आमजन पर उतार रही है। जेएनवीसी थाना पुलिस करीब छह दिन पहले हेलमेट चैकिंग के दौरान एक बाइक सवार को थाने ले गई और उसकी बेरहमी से धुनाई की। उसको बेल्ट से इतना मारा कि शरीर पर कई जगह गहरे निशान पड़ गए।

पीडि़त ने इस संंबंध में पुलिस अधीक्षक सहित मानवाधिकार आयोग को शिकायत की है। जवाहर नगर निवासी वीर विक्रम आचार्य सात जून को जेएनवीसी कॉलोनी में एलआइसी के डीओ राजकुमार सलुजा से मिलने गया था। उनके घर बाइक खड़ी कर हेलमेट बाइक के हैंडल पर रख दिया। लौटा तो बाइक से हेलमेट गायब था। वह बिना हेलमेट ही घर के लिए रवाना होग या। इस दौरान गौतम सर्किल पर एएसआई रतनलाल के नेतृत्व में हेलमेट चैंकिंग हो रही थी।

बेरहमी से पिटाई

पुलिसकर्मियों ने वीर विक्रम को रोक लिया और चालान बनाने लगे। उसने गाड़ी के सभी कागजात दिखा दिए और हेमलेट नहीं होने की वास्तविक जानकारी दी। इसके बावजूद वे नहीं माने और गाड़ी की चाबी निकाल ली। उसने विरोध किया तो उसे मारने लगे तथा गाड़ी में डालकर थाने ले गए। थाने में एएसआई, सिपाही बिट्टू, रेवंतराम सहित दो अन्य पुलिस कर्मचारियों ने उसकी बेरहमी से पिटाई की। पीडि़त अभियांत्रिकी महाविद्यालय बीकानेर का पूर्व असिस्टेंट प्रोफेसर हैं, जो वर्तमान में एलआइसी एजेंट है।

पुलिस का व्यवहार ठीक नहीं

हेमलेट नहीं होने पर पहले गालियां निकाली। इसका विरोध करने पर थाने ले जाकर निर्वस्त्र कर बेरहमी से पीटा। शरीर में कई जगह नील पड़ गई। पुलिस का आमजन के साथ इस तरह का व्यवहार उचित नहीं है। पुलिस अधीक्षक एवं मानवाधिकार आयोग से न्याय की गुहार लगाई है। -वीर विक्रम आचार्य, पीडि़त

पिटाई करना गलत, दोषी पर होगी कार्रवाई

मामला मेरे ध्यान में आया है। हेलमेट नहीं होने पर पिटाई करना गलत है। मामले की गंभीरता को देखते हुए जांच सीओ सदर को सौंपी गई है। इस मामले में जो भी दोषी होगा, उसे बख्शा नहीं जाएगा। पीडि़त को न्याय मिलेगा। – सवाईसिंह गोदारा, पुलिस अधीक्षक

 

Tags
Show More

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker