बीकानेरबीकानेर संभाग

देर रात को पीबीएम अस्पताल हुआ हंगामा, जाने क्या रही होगी वजह !

बीकानेर : संभाग के सबसे बड़े अस्पताल पीबीएम में आये दिन कोई ना कोई हंगामा होता रहता है।  कोई ऐसा दिन नहीं जाता जिस दिन कोई घटना ना घटी हो। इसमें अस्पताल प्रसाशन की लापरवाही कहे या मरीज़ों की गलती।  रविवार को देर रात पीबीएम के जनाना अस्पताल में एक प्रसूता की मौत हो गई। इस मौत से आक्रोशित परिजनों ने अस्पताल में  के वार्ड पी में तोडफ़ोड़ की और चिकित्सक एवं नर्सिंग स्टाफ से हाथापाई की। सूचना मिलने पर पुलिस एवं चिकित्सा विभाग के उच्चाधिकारी मौके पर पहुंचे। उन्होंने परिजनों को समझाइश कोशिश की पर कोई परिणाम नहीं निकला विभाग के अधिकारियों की कोशिश के बाद भी आक्रोशित परिजन शांत नहीं हुए। मृतका के परिजनों ने  चिकित्सक एवं स्टाफ पर उपचार में लापरवाही का आरोप लगाया।

सिजेरियन डिलीवरी के दौरान हुई थी मौत

पीबीएम चौकी प्रभारी उपनिरीक्षक संदीप बिश्नोई से  मिली जानकारी अनुसार सूडसर गांव के निवासी आशूराम जाट की पत्नी गायत्री (35) की रविवार दोपहर को पीबीएम के जनाना अस्पताल में सिजेरियन डिलीवरी हुई थी। रविवार शाम को महिला की अचानक तबीयत खराब हो गई। परिजनों का आरोप है कि सूचना देने के बावजूद चिकित्सा स्टाफ और फिर चिकित्सक ने उपचार में लापरवाही बरती। इससे देर रात प्रसूता की मौत हो गई।

कानूनी कार्रवाई का दिया भरोसा

आक्रोशित परिजनों का आरोप है कि उपचार में लापरवाही नहीं की जाती तो महिला बच सकती थी। संदीप बिश्नोई के अनुसार महिला की मौत से परिजन आक्रोशित हो गए और उन्होंने विरोध जताया। परिजनों ने चिकित्सालय में तोडफ़ोड़ की और स्टाफ से हाथापाई की। बताया गया है कि महिला की तीसरी डिलीवरी थी। नवजात स्वस्थ है। बिश्नोई के अनुसार एकबारगी परिजनों को समझाइश कर शांत कर दिया है। शव मोर्चरी में रखवा दिया गया है। सुबह परिजन चाहेंगे तो आवश्यक कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

 

Tags
Show More

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker