बीकानेर

अपराध रोकने के साथ ही कानून-व्यवस्था बनाए रखना भी पुलिस की बड़ी जिम्मेवारी

बीकानेर।  बीकानेर के पुलिस ट्रेनिंग स्कूल में नौ माह प्रशिक्षण लेने वाले 91 नए कांस्टेबल अब पुलिस महकमे में शामिल होंगे। पुलिस मोटर ड्राइविंग स्कूल में भी 64 कांस्टेबल ड्राइवर ने इंडोर-आउटडोर की ट्रेनिंग पूरी कर ली है जो अब पांच माह मोटर टैक्नोलॉजी की ट्रेनिंग लेकर वाहनों के स्टेयरिंग थामेंगे।  राज्य में पुलिस महकमे का एकमात्र पुलिस मोटर ड्राइविंग स्कूल बीकानेर है जहां सातवें बेच में 56 और आठवें बेच में 18 पुलिसकर्मियों सहित 74 कांस्टेबल ड्राइवर को छह माह का बेसिक प्रशिक्षण दिया गया।

अब वे पांच माह मोटर टैक्नोलॉजी (एमटी) की ट्रेनिंग लेंगे और उसके बाद महकमे के वाहनों की स्टेयरिंग थामेंगे। पीएमडीएस में ही संचालित पुलिस ट्रेनिंग स्कूल के तीसरे बेच में 91 नए कांस्टेबल ने नौ माह की अपनी ट्रेनिंग पूरी कर ली है। इन सभी को पुलिस मुख्यालय जिलों में भेजेगा जहां वे अपनी सेवाएं देंगे। दोनों ट्रेनिंग सेंटर में प्रशिक्षण पूरा होने पर शुक्रवार को पीएमडीएस मैदान में संयुक्त रूप से दीक्षांत समारोह आयोजित किया गया।

राजस्थान का एक मात्र मोटर ड्राइविंग स्कूल 

प्रशिक्षणार्थी कांस्टेबल की परेड हुई जिसकी सलामी एडीजी (आरएसी) के. नरसिम्हाराव ने ली। जवानों को संबोधित करते हुए एडीजी ने कहा कि वर्तमान में अपराध रोकने के साथ ही कानून-व्यवस्था बनाए रखना भी पुलिस की बड़ी जिम्मेवारी हो गई है। ऐसे में पुलिसकर्मियों के लिए प्रशिक्षण का महत्व और अधिक हो जाता है जिससे कि वे हर परिस्थिति में अपनी ड्यूटी बेहतर और निष्ठा के साथ कर सकें। पीटीएस और पीएमडीएस के कमांडेंट सलविन्द्रसिंह ने दोनों संस्थानों के बारे में जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि पीएमडीएस में आठ बेच, रिफ्रेशर कोर्स और पीसीसी सहित 7971 पुलिसकर्मियों को और पीटीएस में तीन बेच और रिफ्रेशर कोर्स सहित 1256 पुलिसकर्मियों को ट्रेनिंग दी जा चुकी है। कार्यक्रम में आरआई दीपचंद ने परेड कमांड की और इंस्पेक्टर आनंदप्रकाश व्यास ने प्रशिक्षणार्थियों को कर्तव्यनिष्ठा की शपथ दिलाई। कार्यक्रम का संचालन इंग्लिश गुरू किशोरसिंह राजपुरोहित ने किया। 

Tags
Show More

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker