बीकानेर

आशीर्वाद नर्सिग होम, नवजात मामले में हैरान कर देने वाला सच आया सामने

बीकानेर। बीते सोमवार शाम को जवाहर नगर इलाके से हैरान कर देने वाली खबर आयी जिसमें एक माँ ने महज़ तीन घंटे पहले जन्मी नवजात बालिका को नर्सिंग होम की खिड़की से बाहर बाथरूम के पास फेंक कर संदिध रूप से गायब हो गयी। घटना की जानकरी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुँच कर नवजात को अपने कब्ज़े में ले लिया और अज्ञात परिजनों के खिलाफ मामला दर्ज़ कार्यवाही शुरू की तो पूरी घटना सामने आ गयी।

पुलिस से मिली जानकारी अनुसार जवाहर नगर स्थित आशीर्वाद नर्सिग होम में एक अविवाहित युवती द्वारा अपनी नवजात बच्ची को स्नानागार की खिड़की से बाहर फेंककर चली जाने के मामले में नर्सिंग होम संचालिका मिनाक्षी गोम्बर ने नयाशहर थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है। पुलिस ने नर्सिंग होम  संचालिका और अन्य स्टाफकर्मियों के बयान लेकर मामले में पड़ताल शुरू कर दी है।

किस इस तरह चला पूरा घटनाक्रम 

पुलिस से मिली जानकारी अनुसार आर्शीवाद नर्सिंग होम की संचालिका डॉ. मीनाक्षी गोम्बर की ओर से दी गई रिपोर्ट में पुलिस को अवगत करवाया गया कि सोमवार देर शाम जब नर्सिग होम में मरीज़ों को देख रही थी तभी पारीक चौक में रहने वाली एक युवती अपनी मां के साथ वहां आई। युवती ने अपने पेट में तेज दर्द की तकलीफ बतायी तो नर्सिंग स्टाफ ने उसके दर्द निवारक इंजेक्शन लगा दिया था।

थोड़ी देर बाद युवती वहीं पास में स्थित बाथरूम में चली गई जहाँ पर उसे प्रसव हो गया। प्रसव में पैदा हुई बच्ची को उसने बाथरूम की खिड़की से गैलेरी में फेंक दिया। इसके बाद वो अपनी मां के साथ निकल वहां से चली गई। थोड़ी देर बाद अस्पताल कर्मचारियों ने  बाथरूम की गैलरी में किसी बच्ची की रोने की आवाज सुनी तो सभी मौके पर पहुंचे और बच्चे को संभाला, और किसी ने इस बारे में पुलिस को सूचित कर दिया। मौके पर पहुंची पुलिस ने नवजात को अपने कब्ज़े में लिया और उसे पीबीएम बच्चा वार्ड में भर्ती करवाया गया। पुलिस अस्पताल के सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही है जिसमे सारा घटना क्रम कैद हो गया। 

मामला स्वास्थ मंत्री तक पहुंचा 

शर्मसार करने वाली  घटना है। इस गंभीर मामले को मैं व्यक्तिगत लेकर जांच करवाता हूं । जांच में दोषी पाये जाने वाले डॉक्टर्स के खिलाफ शीघ्र कार्रवाई की जाएगी – कालीचरण सर्राफ, चिकित्सा मंत्री, राजस्थान सरकार

नर्सिंग होम की एक खिड़की से नवजात को फेंकना शर्मसार: सीएमएचओ

यह मामला अभी संज्ञान में आया है। आशीर्वाद नर्सिंग होम की एक खिड़की से नवजात जिंदा बच्ची बच्ची को फेंकना शर्मसार करने वाली बात है। इस पूरे मसले की जांच करवाता हूं। – डॉ. देवेन्द्र चौधरी, सीएमएचओ, बीकानेर

 

Tags
Show More

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker