बीकानेरबीकानेर संभाग

बीकानेर संभाग में आज साठ हजार लीटर दूध पीएंगे स्कूली बच्चे!

बीकानेर। देशभर में सोमवार से शुरू होने वाली अन्नपूर्णा दूध योजना को लेकर शिक्षा विभाग ने तैयारियां पूरी कर ली है। जिला स्तर पर कलक्टरों के निर्देशन में दूध योजना की क्रियान्विति होनी है। अकेले बीकानेर जिले में 1 लाख 91 हजार 621 विद्यार्थी लाभान्वित होंगे। रविवार को जिला शिक्षा अधिकारियों ने पीईईओ को निर्देश जारी कर सोमवार के कार्यक्रम की तैयारियों के निर्देश दिए। जिला स्तरीय कार्यक्रम यहां महारानी बालिका उमावि में होगा, वहीं ब्लॉक का पलाना स्कूल में होगा।

साठ हजार लीटर दूध की खरीद

अन्नपूर्णा दूध योजना के तहत माध्यमिक एवं प्रारंभिक शिक्षा के अधीन कक्षा पहली से आठवीं तक के विद्यार्थियों के लिए प्रतिदिन साठ हजार लीटर दूध की खरीद की जाएगी। योजना के तहत सरस बूथ, दुग्ध सहकारी समितियां, महिला स्वयं सहायता समूहों तथा निजी डेयरियों से लिखित अनुबंध कर गुणवत्ता पूर्ण दूध की व्यवस्था करने के निर्देश हैं लेकिन अब तक नाम मात्र के स्कूलों ने ही अनुबंध किया है।

ऐसे में पहले दिन निजी स्रोत से दूध की व्यवस्था की जाएगी। योजना के शुभारम्भ का जिला स्तरीय कार्यक्रम 2 जुलाई को महारानी सुदर्शन बालिका उच्च माध्यमिकविद्यालय में प्रात: 8.30 बजे आयोजित किया जाएगा। तहसील स्तर पर भी शुभारम्भ समारोह आयोजित किया जाएगा। बीकानेर ब्लॉक प्रारंभिक शिक्षा अधिकारी कपिल भार्गव ने बताया कि कार्यक्रम पलाना के राजकीय विद्यालय में आयोजित किया जाएगा।

पांचवीं तक 150 व छठी से आठवीं तक 200 एमएल

राजकीय प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालयों में अध्ययनरत विद्यार्थियों के पोषण स्तर में वृद्धि, सूक्ष्म पोषक तत्व उपलब्ध करवाना व ड्रॉप आउट को रोकना है। इसके तहत सरकारी स्कूल में कक्षा पहली से 5 तक के बच्चों को 150 एमएल व कक्षा 6 से 8 तक बच्चों को 200 एमएल दूध उपलब्ध करवाया जाएगा।

1.92 लाख विद्यार्थी होंगे लाभान्वित

अन्नपूर्णा दूध योजना के तहत पहली से आठवीं कक्षा के विद्यार्थियों को सप्ताह में तीन दिन दूध वितरित किया जाएगा। प्रार्थना सभा के तुरंत बाद दूध का वितरण सुनिश्चित करने के लिए निर्देश जारी किए गए हैं। हालांकि ग्रामीण क्षेत्रों में मंगलवार, गुरुवार व शनिवार को दूध वितरित होना है लेकिन योजना का शुभारंभ सोमवार को होगा। इसमें ग्रामीण क्षेत्र के 1 लाख 72 हजार 839 तथा शहरी क्षेत्र के 18 हजार 782 विद्यार्थी शािमल है।

निदेशक ने दिए निर्देश

माध्यमिक शिक्षा निदेशक नथमल डिडेल ने जिला शिक्षा अधिकारियों को आदेश जारी कर अधीनस्थ विद्यालयों में अन्नपूर्णा दूध योजना की सफल क्रियान्विति के निर्देश दिए हैं। निर्देशों में दूध की गुणवत्ता को सुनिश्चित करने के भी निर्देश दिए गए हैं लेकिन सरकार के निर्देशानुसार खरीदे गए लेक्टोमीटर से दूध के फेट की जांच हो सकेगी लेकिन उसमें मिश्रित रसायनिक तत्वों की जांच नहीं हो पाएगी।

Tags
Show More

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker