बीकानेर संभागराजनीति

भ्रष्टाचार के आरोपों के चलते बीकानेर देहात अध्यक्ष के खिलाफ भाजपा नेताओं ने खोला मोर्चा !

बीकानेर संभागभ्रष्टाचार के आरोपों से  चौतरफा घिरे बीकानेर देहात अध्यक्ष सहीराम दुसाद का मामला थमने का नाम नहीं ले रहा है। रोज़ नए – नये खुलासे हो रहे है।  वही भाजपा के  नेताओं की आपसी खिंचा तान के चलते विरोधी पार्टियों को बैठे बिठाये मौका मिल गया है। दुसाद के इस्तीफे के मांग को लेकर कई बड़े नेता खुल कर सामने आ गये है और पार्टी आलाकमान से कार्यवाही करने की मांग रही है। 

भाटी बोले  मुंह दिखाने लायक नहीं छोड़ा

दुसाद के खिलाफ मोर्चा खोलने वालों में पूर्व मंत्री और भाजपा कार्य समिति के सदस्य देवी सिंह भाटी का नाम प्रमुखता से आया है । भाटी दुसाद की नियुक्ति के समय से खुलकर विरोध करने वाले नेताओं में से थे। एक निजी टीवी चैनल के इंटरव्यू में भाटी ने भाजपा देहात अध्यक्ष सही राम दुसाद के खिलाफ जमकर हमला बोला है। भाटी बोले, पहले ही कहता था कि कांग्रेस पृष्ठभूमि के ऐसे व्यक्ति को अध्यक्ष बना दिया गया है जिनके संबंध कांग्रेस के स्थानीय नेताओं से हैं। ये विधानसभा चुनाव में पार्टी के सभी प्रत्याशियों के विरोध में रहे हैं। कालेधन और भ्रष्टाचार के खिलाफ पार्टी ने मुहिम छेड़ रखी है। कोई भी हमारे नेतृत्व-पदाधिकारियों की तरफ अंगुली उठाकर नहीं देख सकते। इस दौर में अध्यक्ष की इस कारगुजारी ने मेरे जैसे आम कार्यकर्ताओं को मुंह दिखाने लायक नहीं छोड़ा। 

बड़े ही गंभीर आरोप  

कृषि उपज मंडी के कई पल्लेदारों-मजदूरों ने आरोप लगाए कि नोटबंदी के दौरान हमसे यह कहते हुए आधार कार्ड लिए गए कि मंडी की वोटरलिस्ट में नाम जुड़वाने हैं। हमारे बैंक खातों में नरेगा मजदूरी का पैसा नहीं मिला तो बैंक गए तब पता चला कि इन आधार नंबरों से कैनरा बैंक में खाते खोल करोड़ों रुपए जमा करवाए और फिर उठाए गए हैं। मंडी अध्यक्ष सहीराम दुसाद थे और उन्हीं पर यह आरोप लगाया गया है। 

इन्होने माँगा इस्तीफा  

वहीँ भाजपा प्रदेश कार्य समिति के सदस्य एवं नोखा से विधानसभा चुनाव लड़ चुके बिहारीलाल बिश्नोई का कहना है, कालेधन और भ्रष्टाचार के विरुद्ध जान हथेली पर लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भ्रष्ट और राष्ट्रविरोधी ताकतों से लड़ रहे हैं। ऐसी पार्टी के जिलाध्यक्ष पर करोड़ों रुपए की हेरा फेरी का संगीन आरोप लगना साधारण बात नहीं है। अध्यक्ष को नैतिकता के आधार पर तुरंत इस्तीफा देकर जांच का सामना करना चाहिए। भाजपा नेता सुरेन्द्रसिंह शेखावत ने भी दुसाद पर निशाना साधते हुए सहीराम दुसाद को सलाह दी है कि वे तुरंत अपना इस्तीफा सौंप दे। शेखावत ने कहा कि  दुसाद को भी जांच जारी होने तक इस्तीफा देना चाहिए ताकि पार्टी में शुचिता का संदेश जा सके। 

मेरे खिलाफ की जा रही साजिस – दुसाद 

वही दूसरी और पुरे मामले पर भाजपा देहात अध्यक्ष ने पूरे मामले पर सफाई देते हुए कहा की  मंडी चेयरमैन रहते हुए किसी भी पल्लेदार के दस्तावेजों से खाता नहीं खुलवाया। पैसे जमा करवाने-निकलवाने से मेरा कोई संबंध नहीं। जिस फर्म का हवाला दिया जा रहा है, उसमें न तो प्रोप्राइटर हूं, पार्टनर, प्रमोटर। यह मेरी सामाजिक-राजनीतिक प्रतिष्ठा को ख़त्म  करने की साजिश की जा रही है। 

(साभार :  संवाददाता  / एजेन्सी / अन्य न्यूज़ पोर्टल )

 

Tags
Show More

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker