नोखाबीकानेरबीकानेर संभाग

नोखा पुलिस के दमन पूर्वक रवैये खिलाफ किसानों ने किया उग्र प्रदर्शन, दोषी पुलिस कर्मियों के निलम्बित की मांग

बीकानेर। किसान आंदोलन के चलते पिछले दिनों नोखा में पुलिस और आंदोलनकारी किसानों के बीच हुई टकराहट के बाद हिरासत में लिये गये आंदोलनकारी युवकों के साथ थाने में बेरहमी से मारपीट और प्रताडि़त करने वाले पुलिस कर्मियों को निलम्बित करने की मांग को लेकर शुक्रवार को कांग्रेस नेताओं के साथ विरोध में उतरे किसानों ने यहां संभाग मुख्यालय पर प्रदर्शन कर रैंज महानिरीक्षक को ज्ञापन सौंपा।

किसान आन्दोलन के दौरान किसानों के साथ बेरहमी से की मारपीट

यूथ कांग्रेस लोकसभा क्षेत्र अध्यक्ष बिशनाराम सियाग की अगुवाई में प्रदर्शन के लिये पहुंचे किसानों ने आरोप लगाया कि गत ३ जून को किसानों के आव्हान पर प्रदर्शन कर रहे झाड़ेली गांव के मुलाराम,भागीरथ,रामकिसन,भंवरलाल के अलावा बेरासर निवासी तोलाराम और जयनारायण समेत अन्य युवकों को नोखा के थाने के एएसआई ओमप्रकाश यादव,कांस्टेबल कैलाश विश्रोई और राजूराम गूर्जर ने हिरासत में ले लिया और थाने में बंद कर उनके साथ बेरहमी से मारपीट की।

किसानों ने बताया कि पुलिस ने यह कार्यवाही नोखा के मिठाई विक्रेमा मनीष मोदी के दबाव में की थी। किसान आंदोलन मेंं दुग्ध की सप्लाई बंद होने के कारण मनीष मोदी का कारोबार प्रभावित हो रहा है,इस लिये वह किसानों का आंदोलन असफल कराना चाहता और आरोपी पुलिस कर्मियों ने उसकी शह पर पर कार्यवाही कर थाने में आंदोलनकारी युवाओं को प्रताडऩा का शिकार बनाया है। किसानों ने चेतावनी दी है कि अगर आरोपी पुलिस कर्मियों को निलम्बित नहीं किया गया तो जिला मुख्यालय पर बेमियादी धरना दिया जायेगा।

Tags
Show More

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker