अजब गजबबीकानेरमनोरंजन

‘ नमकीन के जादूगर है “जुनिया महाराज”, स्वाद के शौकीनों का शहर है बीकानेर ‘

नमकीन के जादूगर है “जुनिया महाराज”, स्वाद के शौकीनों का शहर है बीकानेर ‘

बीकानेर : बात जब खाने की हो तो, सबसे पहले स्वाद याद आता है और जब जिक्र स्वाद का हो तो सबसे पहले बीकानेर का नाम याद आता है | यहाँ के जुड़े लोगों का खाने से काफी गहरा नाता है इसलिए तो बीकानेर को ‘ स्वाद के शौकीनों का शहर भी कहते है| ये हर बीकानेर वासी की आत्मा से जुडी है जिसे वो कभी भी नहीं भुला सकता है | वैसे तो बीकानेर में बना भुजिया पापड़ रसगुल्ला दुनियां भर अपनी एक अलग पहचान बना चूका है | उसके कुछ चीज़े ऐसी है जिसमे जुनिया महराज कचौरी, दाल पकौड़ी, बी.के स्कुल के पास वाले दही-बड़े,  छोटू – मोटू जोशी के स्पंज वाले रसगुल्ले, रोज़ बनने वाली मेथी की सब्जी – पूरी हो, मुलसा-फूलसा का पान, बिरजा महाराज की या मावे से बनी जलेबी, सांखला की केसर वाली कुल्फी हो, ओझा जी की रबड़ी हो या भीखाराम -चांदमल की केसर वाली काजू कतली का स्वाद आपको कहीं भी नहीं मिलेगा| 

बड़े बाज़ार की ‘ चाय-पट्टी ‘ (भुजिया बाज़ार) तो पुरे एशिया अनूठी है यहाँ बनने वाली नमकीन-मिठाई का स्वाद आपको दुनियां भर में और कहीं भी नहीं मिलेगा|  बात अगर नमकीन की हो तो नमकीन के जादूगर ‘ जूनिया महाराज ‘ के हाथों बनी स्वादिष्ट दाल की कचौरी, बेसन पकौड़ी व् आलू की सब्जी का हर कोई मुरीद है | सुबह सात बजे से ही इनकी दुकान पर नाश्ता करने वालों की लाइन लग जाती है |  एक दम साधारण से दिखने वाले ‘ जूनिया महाराज ‘ का वास्तविक नाम ‘ चेतन दास आचार्य ‘ पर लोग इन्हें ‘ जूनिया महाराज ‘ के नाम से ही जानते और पहचानतें है |

Tags
Show More

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker