बीकानेरबीकानेर संभाग

बीकानेर संभाग में देर रात हुई बारिश से किसानों के चेहरे खिले

बीकानेर।  पिछले कई दिनों से चल रही धूल भरी आंधी के बाद कल देर रात मौसम अचानक पलटा। देर रात चली तेज हवाओं के बाद बूंदाबांदी का दौर जारी हो गया। बीकानेर के अलावा नोखा, महजन, जयमलसर एवं सिंथल सहित आसपास के क्षेत्रों में बारिश हो रही है। अलसुबह से ही आसमान से बरस रही रिमझीम फुव्वारों ने मौसम को सुहावना बना दिया है। जिसके चलते आमजन को गर्मी से राहत मिली है। 

अंचल में पिछले एक सप्ताह से चल रही तेज हवाओं व आंधी का दौर आखिरकार रविवार को थम गया। इससे शहरवासियों को धूल के गुबार व तेज हवाओं से राहत मिली। तेज हवाओं व आंधी से चारों तरफ धूल ही धूल होने से शहरवासी परेशान हो चुके थे और बारिश का इंतजार कर रहे थे। रविवार में मौसम में आए बदलाव से सुबह बादलों की आवाजाही लगी रही।

 

देर रात हुई झमाझम बारिश 

बीकानेर संभाग में बीती रात को मानसून पूर्व की बारिश हुई। कहीं अधिक तो कहीं कमजोर हुई बारिश के बाद तापमान में आई गिरावट से मौसम सुहावना हो गया तथा लोगों ने गर्मी से राहत महसूस की। मानसून पूर्व की हुई बारिश ने ट्रेलर दिखा दिया है कि इस बार मानसून के दौरान अच्छी बारिश होने की संभावना है। इसको लेकर अब तक निराश हो चले किसानों की आंखों में गुम हुई चमक फिर लौट आई है। 

दिनभर की गर्मी तथा तेज हवाओं के बाद रविवार को देर रात करीबन ढाई-तीन बजे के बीच तेज अंधड़ के साथ बारिश का शुरु हुआ सिलसिला रूक-रूककर सोमवार अल सुबह तक जारी रहा। परनाले बहे तथा सड़कों पर पानी चलने व दौडऩे लगा।

बारिश के साथ गिरे ओले, गर्मी से मिली राहत

महाजन. कस्बे व आसपास के क्षेत्र में रविवार को हल्की बारिश हुई। बरसात से किसानों के चेहरों पर चमक लौट आई है। रविवार को मौसम बदला और शाम को करीब साढ़े 6 बजे कस्बे व क्षेत्र के कई गांवों में बरसात शुरू हो गई। कस्बे में करीब 10 मिनट तक बारिश हुई। बारिश के साथ चने के आकार के ओले भी गिरे। बरसात से जहां गर्मी का प्रकोप कम हुआ है वहीं सिंचित खेतों में दम तोड़ रही मूंगफली व नरमें की फसल को भी जीवनदान मिला है।

 

Tags
Show More

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker