नापासरबीकानेरबीकानेर संभाग

नापासर नगर पालिका फिर से ग्राम पंचायत में तब्दील, पढ़े पूरी खबर

नापासर। सुप्रीम कोर्ट के एक फैसले के बाद नापासर एक बार फिर नगरपालिका से ग्राम पंचायत में तब्दील हो चुका है। जोधपुर हाई कोर्ट के फैसले को सुप्रीम कोर्ट ने पलट दिया है। इस लडाई में राजस्थान सरकार की हार हुई है। नगरपालिका से ग्राम पचांयत बनने से लोगों में मिली जुली प्रतिक्रिया देखी जा रही है। जहाँ एक और वर्तमान सरपंच चम्पालाल औझा और उसके समर्थक आतिशबाजी छोड़कर खुशीयां मना रहे है । तो वही दुसरी और वो लोग भी है जो इस फैसले से बेहद मायूस नजर आ रहा है। गांव से शहर बनने पर सभी खुश होते है , शहर से वापस गांव में तब्दील होना किसे रास आएगा। ये लड़ाई पूरी तरह से राजनैतिक बनी थी, जिसमे बलि सिर्फ नापासर की चढ़ेगी। आपको बता दे 2016 से चले आ रहे इस मामले में आज जाकर फैसला आया है।

ये है पूरा मामला

 2008 में नापासर नगरपालिका घोषित हुई थी जिसे  2009 में कांग्रेस ने इसे फिर ग्राम पंचायत घोषित कर दिया। 2016 में भाजपा सरकार ने फिर पालिका बना दिया। पद जाने से सरपंच चंपालाल ओझा हाईकोर्ट गए। डबल बैंच ने सरकार के पक्ष में फैसला दिया। ओझा सुप्रीम कोर्ट गए। सुप्रीम कोर्ट ने 3 माह पहले सरकार से नापासर की रिपोर्ट पेश करने को कहा। लेकिन ऑफिस इंचार्ज की मृत्यु होने से रिपोर्ट पेश नहीं हुई। नाराज जस्टिस ने पिछले सप्ताह एसीएस को हाजिर होने के आदेश दिए थे।

Tags
Show More

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker