बीकानेरराजस्थान

बीकानेर से जुड़ा था ‘ अटल प्रेम ‘ , पाँच बार आ चुके थे बीकानेर !

बीकानेर. अटल बिहारी वाजपेयी अपने राजनीतिक जीवन काल में पांच बार बीकानेर आए। पहली बार १९५३ में देशभर की यात्रा के दौरान तथा अंतिम बार 2003 में प्रधानमंत्री के रूप में बीकानेर आए। वैसे बीकानेर की गहरी छाप उनके मन पर हमेशा रही। उन्हें बीकानेर के भुजिया और रसगुल्ले पसंद थे । जब बीकानेर से कोई भी परिचित नेता उनसे मिलने दिल्ली जाते तो वे अक्सर कहते आओ बीकानेरी और भुजिया-रसगुल्ला को जरूर याद करते ।

दांती बाजार में पहली सभा

वाजपेयी की बीकानेर में पहली सभा दांती बाजार में 1946 में हुई। श्याम प्रसाद मुखर्जी की रहस्यमय मृत्यु के पर देश के सामने सच रखने के लिए की यात्रा के दौरान यहां आए। पुराने शहर के दांती बाजार में जनसभा हुई। इसके बाद 1971 में जन संघ के विधानसभा प्रत्याशी भंवर लाल कोठारी के समर्थन में सभा को सम्बोधित करने वाजपेयी आए।

चुनावी सभा जूनागढ़ के पीछे हुई। मंच पर आते ही वाजपेयी ने तीन घंटे विलम्ब से आने का कारण बताया। उन्होंने कहा विलम्ब से पहुंचने का कारण सड़कें और सरकारी गाड़ी है। उस समय वे प्रतिपक्ष के नेता थे और सरकारी गाड़ी मिली हुई। इस वाक्य से सभा में ठहाका लगा और इन्तजार का गुस्सा ठंडा पड़ गया ।

Tags
Show More

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker