बीकानेरबीकानेर संभागराजस्थान

राजस्थान बजट 2018-फिर निराश हुआ बीकानेर ,राजे सरकार ने किया नजरअंदाज!

बीकानेर। राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने सोमवार को वित्त वर्ष 2018-19 के लिए राजस्थान सरकार का 5वां बजट पेश कर दिया है। राजस्थान में इसी साल विधानसभा चुनाव भी होने हैं। सीएम ने इस बार राज्य सरकार के बजट में कई बड़ी घोषणाएं कीं।  राजे सरकार की और से पेश किया गया अंतिम बजट पूरी तरह से चुनावी रंग में नज़र आया। 

फिर निराश हुआ बीकानेर

इस बार भी बजट को लेकर बीकानेर के आम अवाम की नज़र टीवी चैनलों पर टिकी थी। 2. 45 घंटे तक मुख्यमंत्री के बोलने के बाद तक लोगों के हाथ निराशा ही लगी। हर बार की तरह इस बार भी बीकानेर की झोली खाली ही रही । पिछले बजट में सरकार ने जो घोषणाएं थी वो आज तक लटकी हुई है। आवश्यक घोषणाओं को सरकार आज तक पूरा नहीं कर पाई है। जिन समस्याओं के लेकर लोग सड़कों पर उतरे थे समस्याएं आज भी वही है। बजट के बाद लोगों में काफी ग़ुस्सा देखा गया। बीकानेर संभाग हमेशा से ही सरकारों की उपेक्षा का शिकार रहा है चाहे वो सरकार बीजेपी की हो या या कांग्रेस की। इस बार सरकार का आखिरी साल होने के चलते जनता खासी उम्मीद बांध कर बैठी थी।

Rajasthan Budget 2018 : से जुडी ये रही बड़ी बातें, किसे क्या मिला, पढ़ें खबर ǃ

कुछ विशेष नहीं मिला

लेकिन कहीं-कहीं सरकार की उदासीनता का असर भी नजर आया। बजट में फिलहाल तो बीकानेर जिले को कुछ विशेष नहीं मिला है। वर्तमान बजट में इनका जिक्र तक नहीं किए जाने से बीकानेर के लोग ही नहीं सत्तारूढ भाजपा के कार्यकर्ता भी मायूस नजर आए। बजट को लेकर जिले को लोगों को उम्मीद थी कि बीकानेर में केन्द्रीय कृषि विश्व विद्यालय खोलने और सौर ऊर्जा हब, जिप्सम हब की घोषणा होगी,लेकिन मुख्यमंत्री ने बजट पेश करते समय बीकानेर से जुड़ी इन उम्मीदों का जिक्र तक नहीं किया। इसके अलावा नोखा क्षेत्र के लिए इस बार बजट में एडीजे कोर्ट खुलने की उम्मीद थी।

Tags
Show More

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker