बीकानेरराजस्थान

बैकों के विलय के साथ ही ” स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर एंड़ जयपुर ” बैंक सदा के लिये गुम हो जायेगा !

बीकानेर खबर : 


एसबीबीजे सहित चार अन्य बैंकों के एसबीआई में विलय की घोषणा के बाद एसबीबीजे की सभी शाखाओं पर एसबीआई के बैनर और पोस्टर लगा दिए गए। कई बैंक शाखाओं में यह कार्य देर रात तक किया जा रहा था।

इस कार्रवाई के चलते शुक्रवार देर रात तक बैंकों में कार्मिक और अधिकारी नजर आए। एसबीआई में विलय के बाद अब एसबीबीजे सहित स्टेट बैंक ऑफ पटियाला, स्टेट बैंक ऑफ मैसूर, स्टेट बैंक ऑफ मैसूर, स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद, स्टेट बैंक ऑफ त्रावण कौर अब एसबीआई के नाम से जानी जाएंगी।

बीकानेर रियासत में 30 दिसंबर 1944 को बैंक ऑफ बीकानेर लिमिटेड बनी थी। – आजादी के बाद इसे स्टेट का दर्जा देते हुए स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर बना दिया गया और 18 साल बाद यानी 1 जनवरी 1963 को इसका स्टेट बैंक ऑफ जयपुर के साथ विलय कर इसे एसबीबीजे नाम दिया गया।
तब से यह स्टेट बैंक के सहयोगी के रूप में तो काम कर रही थी, लेकिन बीकानेरवासियों को इसके बीकानेर नाम के साथ जुड़ाव महसूस होता रहा। – अब एक अप्रैल 2017 से एसबीबीजे को खत्म कर इसे एसबीआई में मर्ज कर दिया गया है।

Tags
Show More

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker