राजस्थान

कांस्टेबल बनने के लिए एग्जाम रूम में स्टूडेंट, गैंग ने होटल से सॉल्व करवाया पेपर

जयपुर। स्पेशन आपरेशन ग्रुप ( एसओजी) की टीम ने सोमवार को राजधानी जयपुर में राजस्थान कांस्टेबल भर्ती परीक्षा में नकल करवाने वाले गिरोह का पर्दाफाश करते हुए उनके 12 संदिग्धों को चिन्हित किया

जयपुर। स्पेशन आपरेशन ग्रुप ( एसओजी) की टीम ने सोमवार को राजधानी जयपुर में राजस्थान कांस्टेबल भर्ती परीक्षा में नकल करवाने वाले गिरोह का पर्दाफाश करते हुए उनके 12 संदिग्धों को चिन्हित किया है और 6 को गिरफ्तार कर लिया है। यह गिरोह पुलिस परीक्षा को लेकर नकल करवाने से जुड़ा है। उन्होंने बताया कि शुरुआती पूछताछ में सामने आया है कि इस नकल मामले में कुछ परीक्षक और संस्थान वाले  भी शामिल हो सकते हैं ।

राजस्थान पुलिस की स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप टीम के अनुसार गिरोह अभ्यर्थियों से रुपए लेकर नकल करवाने का काम करता है।  मामले की जानकारी मिलते ही वरिष्ठ अधिकारी थाने पहुंच गये है ओर  आरोपियों से पूछताछ कर रहे हैं। बताया जाता है कि जयपुर में पकड़े गए संदिग्धो से पूछताछ में अभी पुलिस भर्ती परीक्षा में नकल की बात सामने आई है।

तीन महीने पहले ही शुरु किया था इंस्टीट्यूट

आईजी दिनेश एमएन ने बताया कि सात मार्च से शुरू हुई इस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा के लिए राजस्थान के करीब 10 जिलों में परीक्षा केंद्र बनाए गए थे। इनमें जयपुर के मालवीय नगर इलाके में अपेक्स सर्किल के पास स्थित सरस्वती इंफोटेक इंस्टीट्यूट को परीक्षा केंद्र बनाया गया था। यह इंस्टीट्यूट करीब तीन महीने पहले ही बिल्डिंग किराए पर लेकर शुरू किया था। इससे पहले यह कंपनी दिल्ली में संचालित थी। इसके तीन पार्टनर होना सामने आया है। इनमें एक विकास मलिक, कपिल और मुख्त्यार है। इस इंस्टीट्यूट में करीब 300 अभ्यर्थियों के बैठने की व्यवस्था है। पीएचक्यू ने परीक्षा आयोजित करवाने का ठेका एप्टेक कंपनी को दिया था। इसी कंपनी ने सरस्वती इंस्टीट्यूट को परीक्षा केंद्र के लिए चुना था

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए फेसबुक पेज को लाइक करें

Tags
Show More

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker