त्यौहारधर्मबीकानेर

सुजानदेसर में उमड़े बाबा के भक्त, खमा, खमा ओ म्हारा रूणीचे रा धणियां…

बीकानेर । भादवें की दशमी पर शहर के विभिन्न रामदेव मंदिरों में श्रद्धालुओं ने लोकदेवता बाबा रामदेव के चरणों में शीश नवाये। सुजानदेसर, बड़ा बाजार, गंगाशहर रोड, मुरलीधर व्यास कॉलोनी, विवेक नगर, फड़ बाजार, सुनारों की गुवाड़, जैलवेल, जस्सूसर गेट, नत्थूसर गेट, एम.एम. स्कूल के पास, जस्सोलाई तलाई, मुरलीधर व्यास कॉलोनी,रामदेव पार्क के पास,चौखूंटी रोड, क मला कॉलोनी, इन्द्रा कॉलोनी, भीनासर, गंगाशहर, गोगागेट सहित शहर के अनेक स्थानों पर बाबा रामदेव की पूजा अर्चना कर श्रद्धालुओं ने प्रसाद चढ़ाया। सुबह सवेरे से ही रामदेव मंदिरों में श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा है।

श्रद्धालु खम्मा- खम्मा-खम्मा रुणीचे रा धणिया, अजमल घर अवतार की जय, नीले घोड़े पे असवार की जय के उद्घोषों के साथ अपनी उपस्थिति दर्ज करवा रहे थे। श्रद्धालुओं ने रामदेव बाबा के नारियल, पतासा, मिश्री, पेड़ों का भोग लगाया वहीं नवजात बच्चों के झड़ूले भी उतारे गये। कई भक्त तो दण्डवत करते हुए बाबे के दरबार में पहुंचे।

सुजानदेसर स्थित रामदेव मंदिर में प्रथम पूजा प्रात: 4 बजे कच्छावा परिवार के परिजनों ने पंचामृत का स्नान वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ किया। तत्पश्चात बाबा का वर्क से श्रृंगार किया गया और पंचमेवों का भोग चढ़ाया गया। सुबह प्रथम आरती की गई जिसमें हजारों श्रद्धालुओं ने बाबा की आरती की। मंदिर परिसर में दर्शनार्थियों के लिए बैरिकेट्स लगाये गये हैं जहां बाबा रामदेव सेवा संघ के कार्यकर्ता और पुलिसकर्मी श्रद्धालुओं का व्यवस्थित रूप से दर्शन करवा रहे हैं।

मंदिर परिसर के बाहर खिलौना, खानपान, प्रसाधन सामग्री, मिट्टी के बर्तनों की अस्थाई दुकानें लगी हुई थी। मुरलीधर व्यास क ॉलोनी रोड स्थित रामदेव मंदिर में भंवरलाल पुरोहित ने बाबा की समाधि का अभिषेक कर श्रृंगार किया। बाद में महाआरती की गई और रामदेवजी के महाप्रसाद चढ़ाया गया। एम.एम. स्कूल के सामने स्थित बाबा रामदेव मंदिर में सुबह से ही श्रद्धालुओं की आवाजावी शुरू हो गई।

श्रद्धालुओं ने मोगरी के चूरमे तथा पतासे-मिश्री का प्रसाद-चढ़ाकर परिवार की सुख-समृद्धि की कामना की। मंदिर के पुजारी सुन्दरलाल जोशी ने बताया कि बाबा के पंचामृत अभिषेक कर विशेष पूजा की गई और प्रसाद चढ़ाया गया। रात्रि में भण्डारे और जागरण का आयोजन हुआ। बेनाम यंग मंडल के कार्यकर्ता व्यवस्थाओं का जिम्मा संभाले हुए हैं।

भौरा-भोर ही शुरू हो गया भक्तों का आगमन

सुजानदेसर में बाबा रामदेवजी के वार्षिक मेले के मौके पर भक्तों के आगमन का दौरा भौरा-भोर ही शुरू हो गया, जो देर अपरान्ह तक परवान पर था। दर्शनों के लिये मंदिर के बाहर डेढ़ किमी तक भक्तों की कतारें लगी थी। कई श्रद्वालु पैदल तो कई दन्डवत करते हुए सुजानदेसर पहुंचे। दशमी के अवसर पर सुजानदेसर बाबा रामदेव जी में धोक लगाने के लिये इस बार भी शहर भर के विभिन्न इलाकों समेत आसपास के गांवों से बड़ी तादाद में श्रद्धालुगण पैदल पहुंचे, जिनमें महिलाएं व बच्चे भी शामिल थे।

जयकारों से गूंज उठा माहौल

सुजानदेसर गांव के बाबा रामदेवजी मंदिर में सुबह हुई ज्योत और महाआरती के बाद श्रद्धालुओं की भारी भीड़ को देखते हुए बाबा के दर्शन और फेरी लगाने वालों के लिये विशेष व्यवस्था की गई थी। मौके पर व्यवस्थाएं बनाए रखने के लिये मंदिर समिति से जुड़े कार्यकर्ताओं के अलावा महिला व पुरुष पुलिस कर्मी भी शामिल थे।

दुर्गम रास्ते में पदयात्रा

जिला प्रशासन की ओर से भादवा माह में मेले से पूर्व तैयारी बैठके आयोजित सभी विभागों के अधिकारियों के साथ ली गई बैठक केवल मात्रा औपचारिकता ही नजर आती है। जिसका परिणाम आज दशमी के अवसर पर सुजादेसर तक पदयात्रा के दौरान देखने में आया। शहर के गंगाशहर क्षेत्र स्थित सुजानदेसर मंदिर में आज दशमी के अवसर पर बाबा रामदेव के दर्शन के लिए पदयात्रियों को मंदिर तक पहुंचने में काफी मशक्कत का सामना करना पड़ा।

जानकारी में रहे कि सुजानदेसर क्षेत्र स्थित मंदिर परिसर के पीछे के मार्ग में जलभराव की स्थिति पिछले ल बे समय से बनी हुई है। इसके लिए प्रशासन को कई बार अवगत कराया जा चुका है लेकिन फिर भी प्रशासन की आंखे नहीं खुली जिसका नतीजा आज पदयात्रियों को बेहद परेशानियों का सामना करना पड़ा। पदयात्रियों का कहना है कि पूरे साल में एक बार भादवा माह में बाबा रामदेव के भव्य मेले के दौरान की जाने वाली पदयात्रा में हमें बेहद परेशानियों का सामना करना पड़ा है।

इससे पूर्व में इस मार्ग के हालातों पर क्षेत्रवासियों की ओर निगम, यूआईटी व जिला प्रशासन को अवगत कराया लेकिन इस पर सुध नहीं ली जिसके हालात आज बयां कर रहे है। वहीं निगम महापौर व नगर विकास न्यास चेयरमैन व अन्य आला अधिकारी भी इस क्षेत्र के निवासी है लेकिन इसके बावजूद इस इलाके हालातों को देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है कि शहर के हालातों में सुधार कैसे आएगा?

 

Tags
Show More

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker