अजब गजबबीकानेरमनोरंजन

चटपटे के शौकीन की पहली पंसद है कड़ी पापड़ी – जायका बीकानेर का

बीकानेर के लोग चटपटी चीज़ें खाने के काफी शौकीन होते है हर  चीज़ में स्वाद ढूंढ ही लेते है बड़ा बाजार की चाय पट्टी की  चाट पकौड़ी  हो या बीके स्कुल के सामने की दहीबड़ा ,कचोरी हो शहर में स्वाद तलाशंने वालों की कमी नहीं है गुजरात की प्रसिद्द पापड़ी बीकानेर के लोग बड़े ही चाव से खातें है !

बीकानेर में चाट नमकीन की  अमूमन  प्रत्येक दुकानों  पे स्पेसली गुजरती पापड़ी और कढ़ी बनाई जाती है और जो लोग स्वाद के जानकर है उन्हें पता है किसी दुकान में कैसी पापड़ी मिलती है और उसी हिसाब से वो वहां चटकारे लेने पहुंच जाते है !

 ईमली की चटनी का कैसा जायका बनता है। पूरे शहर में कमोबेश पापड़ी की स्टाल्स, गाड़े और दुकानें मिलाकर 140 के आस-पास मानी जा रही हैं। ये पुराने शहर से लेकर मुख्य बाजार, चौराहे और कॉलोनियों में सब जगह मिल जाती है। पापड़ी बेसन, अजवाइन, साजी अथवा खारा सोडा, तेल और नमक से बनती है।

कढ़ी दही की बनती है जिसमें हरी मिर्च और घरों में प्रयुक्त होने वाले मसालें डाले जाते हैं। चटनी भी ईमली की पूरी विधि से बनाई जाती है। पापड़ी पर कढ़ी और ईमली की चटनी डालकर जब ग्राहक को परोसी जाती है तो स्वाद के कदरदानों की तबियत हरी हो जाती है।

 पापड़ी में अजवाइन, चटनी, कढ़ी स्वास्थ्यवद्र्धक भी है। स्वाद की दृष्टि से बीकानेर में कई tतरह की पापड़ी बनती है। दावा है कि 70 तरह की पापड़ी बनाई जा सकती है। बीकानेर में 121 तरह के गोलगप्पे व दहीबड़े, 56 तरह के कांजी बड़े तथा पालक, लहसुन की पापड़ी बनती है।

Tags
Show More

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker