अजब गजबधर्म

यहाँ हर साल दीपावली पर होता है उर्दू में लिखी रामायण का वाचन !

दीपावली दिन मुस्लिम द्वारा रूहानी अंदाज के साथ उर्दू में लिखी रामायण का वाचन होता है । अजब बीकानेर की गजब कहानी  जो दुनियाँ में कही भी नही होता वो सिर्फ और सिर्फ बीकानेर में होता है। पुरे देश भर में गंगा-जमुनी तहजीब का प्रतीक बीकानेर है| दीपावलीहिन्दुओं का पवित्र त्योहार है,जिसमें देवी देवताओं की पूजा के साथ पवित्र पुस्तक रामायण भी पढ़ी जाती है। लेकिन राजस्थान में एक जगह एसी है,जहां रामायण के महत्वपूर्ण घटनाएं उर्दू शायरी में बयान किए जाते हैं।

राजस्थान राज्य के शहर बीकानेर में रामायण उर्दू में पढ़ी जाती है। यह रामायण 1935 में मौलवी बादशाह हुसैन राणा लखनवी ने लिखी थी। उस समय उन्हें बहुत प्रशंसा मिली थी, और स्थानीय राजा ने उसे पुरस्कार भी दिया था। राज्य के पर्यटन विभाग और जिम्नास्टिक ने संयुक्त रूप से दिवाली के अवसर पर इस रामायण को पेश करने के लिए विशेष व्यवस्था किया जाता है।

डीडब्ल्यू के अनुसार उसके प्रबन्धक डॉक्टर ज़ियाउल हक़ कादरी ने बताया कि दीवाली रामचंद्र के चौदह वर्ष के वनवास की वापसी पर खुशी में मनाई जाती है। इस उर्दू रामायण में इन्हीं दृश्यों को पेश किया गया है।  यह तुलसी दास जी का ‘राम चरित्र मानस’ का अंत है, इस में सीता के अपहरण करने, रावण के साथ जंग और फिर वनवास की वापसी तक के तमाम घटनाओं का उल्लेख किया गया है। 

 

Tags
Show More

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker